राजस्थानी साहित्यकार सम्मलेन, तारानगर

कार्यक्रम :- राजस्थानी साहित्यकार सम्मलेन, तारानगर
दिनांक :- ७-८ नवम्बर २००६ ,
स्थान :- इन्द्रलोक भवन, तारानगर, चूरू
















सहयोग :- राजस्थानी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, बीकानेर।
कार्यक्रम उद्देश्य :- राजस्थानी के साहित्यकारों को आमंत्रित कर रखे गए विषयों पर व्यापक चर्चा करवाना। एक निष्कर्ष की तरफ़ बढ़ना। नवोदित साहित्यकारों के लिए परिपक्वता की जमीन तैयार करना व संभावनाएं तलाश करना। पुस्तकें विमोचित करवाना। राजस्थानी भाषा की संवैधानिक मान्यता के लिए वातावरण निर्माण करना। उल्लेखनीय कार्य करने वाली प्रतिभाओं को सम्मानित करना।
कार्यक्रम रूपरेखा :-



















भागीदार
:- सीताराम महर्षि (रतनगढ़), माणकमोट मणि (जोधपुर), सत्यनारायण इन्दौरिया (रतनगढ़), डॉ मंगत बादल (रायसिंह नगर) , रामेश्वर गोदारा (गंगानगर), प्रह्लाद पारीक (१८ एस पी डी, सूरतगढ़), किरण बादल (रायसिंहनगर) , मनोज कुमार स्वामी (सूरतगढ़), निशांत (पीलीबंगा), पूर्ण शर्मा पूरण (रामगढ -हनुमानगढ़), मेहरचंद धामू (परलिका), भरत ओला (नोहर), दीनदयाल शर्मा (हनुमानगढ़), शारदा कृष्ण (सीकर), दुर्गेश (चूरू), अवकाश सैनी (चूरू), डॉ रामकुमार घोटड (राजगढ़), पवन शर्मा (भादरा), रामस्वरूप किसान (परलीका), सत्यनारायण सोनी (परलीका), भंवरसिंह सामौर (चूरू), मुकुनसिंह सहनाळी (चूरू), श्रीभगवान सैनी (चूरू), विनोद नोख्वल (पीलीबंगा), ओम पुरोहित कागद (हनुमानगढ़), जगदीश पंवार (दिल्ली), शिवराज भारतीय (नोहर), बिशनाराम स्वामी (बरवाली-नोहर), उम्मेद गोठवाल (चूरू), डॉ मदन सैनी (बीकानेर), विक्रमजीत (बीकानेर), जयंत निर्वाण (सरदार शहर), नथगिरी भारती (नोहर), ओमप्रकाश तंवर (चूरू), देवकरण जोशी दीपक, परमेश्वर प्रजापत, मातुसिंह राठौड, किशोर निर्वाण (तारानगर), हनुमान दीक्षित (नोहर), राजेन्द्र बारहठ (उदयपुर), राजेन्द्र शेखावत (झुंझनु), बनवारीलाल दाधीच (बीदासर), रामफल चहल (आकाशवाणी चूरू), शंकर झकनाडिया (चूरू), डॉ सत्यनारायण शाण्डिल्य (राजगढ़), लीटू कल्पनाकांत (रतनगढ़), मोहन माधुरी (रामगढ़ शेखावाटी), राजेन्द्र कस्वां (झुंझनु), महावीर प्रसाद शर्मा (झुंझनु), अलका पालावत (रतनगढ़), देव कोठारी (उदयपुर), पृथ्‍वीराज रतनू (बीकानेर), उम्मेद धानियां (राजपुरा-तारानगर), समुन्दरसिंह सैनी (खाजूवाला) आदि।
संयोजक :- दुलाराम सहारण
सहसंयोजक :- विश्वनाथ भाटी
स्वागत :- डॉ देव कोठारी, अध्यक्ष, राजस्थानी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, बीकानेर
आभार :- पृथवीराज रतनू, सचिव, राजस्थानी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, बीकानेर।












समारोह में तीन पुस्तकों का विमोचन भी किया गया। समाजसेवी व शिक्षाविद डॉ घासी राम वर्मा ने विमोचन किया।
विमोचन : न टूटे न झुके (स्वतंत्रता सेनानियों का जीवन वृंत ) : बैजनाथ पंवार

भेख (राजस्थानी कहानी संग्रह) : श्रीभगवान सैनी

डॉ घासी राम वर्मा - एक परिचय : दुलाराम सहारण










सम्मान : राजस्थानी भासा के लिये कम करने वाले भाषा के शुभचिंतकों का "प्रयास सम्मान-२००६" देकर सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वालों में श्री दुर्गेश (साहित्य-चूरू), श्री मुकुनसिंह सहनाळी (साहित्य-चूरू), श्री विक्रमजीत (शिक्षा -बीकानेर), श्री मनोज स्वामी (पत्रकारिता-सूरतगढ़), जगदीश पंवार (पत्रकारिता-दिल्ली), माणक मोट मणि (पत्रकारिता-जोधपुर) शामिल थे।

प्रकाशन :-

प्रयास स्मारिका - १ :- राजस्थान साहित्यकार समेलन, तारानगर (७-८ नवम्बर, २००८) की स्मृतियों को स्थाई बनाने के निमित्त इस स्मारिका का प्रकाशन किया गया। उक्त समारोह में ही इस स्मारिका का विमोचन किया गया। स्मारिका विज्ञापनदातायो के सहयोग से प्रकाशित की गयी अतएव समारोह में वितरित कर दी गयी। स्मारिका में समारोह में पढे गये तीनों पर्चे खासतौर पर प्रकाशित किए गये।